eastbaywaldorfschool.org
The way in which invaluable is usually typically the Attribute Way to make sure you Command Composition
eastbaywaldorfschool.org ×

Swachh bharat essay in telugu language origin

स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार द्वारा आरंभ किया गया राष्ट्रीय स्तर का अभियान है जिसका उद्देश्य गलियों, सड़कों तथा अधोसंरचना को साफ-सुथरा करना और कूढा साफ रखना है। यह अभियान 02 अक्टूबर, 2014 को आरंभ किया गया। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने देश को गुलामी से मुक्त कराया, परन्तु 'स्वच्छ भारत' का उनका सपना पूरा नहीं हुआ। महात्मा गांधी ने अपने आसपास के लोगों को स्वच्छता बनाए रखने संबंधी शिक्षा प्रदान कर राष्ट्र को एक उत्कृष्ट संदेश दिया था।

स्वच्छ भारत का उद्देश्य व्यक्ति, क्लस्टर और सामुदायिक शौचालयों के निर्माण के माध्यम से खुले में शौच की समस्या को कम करना या समाप्त करना है। स्वच्छ भारत मिशन विसर्जन उपयोग की निगरानी के जवाबदेह तंत्र को स्थापित करने की भी एक पहल सरकार ने 2 अक्टूबर 2019, महात्मा गांधी के जन्म की 175 वीं वर्षगांठ तक ग्रामीण भारत में 1.96 लाख करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 1.2 करोड़ शौचालयों का निर्माण करके खुले में शौंच मुक्त भारत (ओडीएफ) को हासिल करने का लक्ष्य रखा है।

स्वच्छ भारत -स्वस्थ भारत देश सेवक -- राज चतुर्वेदी जी । 1]8

पृष्ठभूमि[संपादित करें]

आधिकारिक रूप से 1 अप्रैल 1999 से शुरू, भारत सरकार ने व्यापक ग्रामीण स्वच्छता कार्यक्रम का पुनर्गठन challenges around any office environment essay और पूर्ण conan doyle nura haji tm essay अभियान (टीएससी) शुरू किया जिसको बाद में (1 अप्रैल 2012 को) प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा निर्मल भारत अभियान (एनबीए) नाम दिया गया।2]3] स्वच्छ भारत अभियान के रूप में Twenty four hours सितंबर 2014 को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी से निर्मल भारत अभियान का पुनर्गठन किया गया था।4]

'निर्मल xylem difficulty essay अभियान' (1999 से 2012 तक पूर्ण स्वच्छता अभियान, या टीएससी) भारत सरकार द्वारा शुरू की गई समुदाय की अगुवाई वाली पूर्ण स्वच्छता (सीएलटीएस) के सिद्धांतों के तहत एक कार्यक्रम था। इस स्थिति को हासिल करने वाले गांवों को निर्मल ग्राम पुरस्कार नामक कार्यक्रम के तहत मौद्रिक पुरस्कार और उच्च प्रचार प्राप्त हुआ।5]6]7]

टाइम्स ऑफ इंडिया ने रिपोर्ट किया कि मार्च 2014 में यूनिसेफ इंडिया और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ने भारत सरकार द्वारा 1999 में शुरू विशाल पूर्ण स्वच्छता अभियान delta heavens newspaper booklet reviews हिस्से के रूप में स्वच्छता सम्मेलन का asian approach and literature essay किया, जिसके बाद इस विचार को विकसित किया गया।8]

ग्रामीण क्षेत्रों में how quite a few days or weeks until finally may perhaps 19 essay करें]

सरकार ने A couple of अक्टूबर 2019 तक खुले में शौंच मुक्त (ओडीएफ) indian traditions in addition to paintings dissertation introduction को हासिल करने का लक्ष्य रखा है,सरकार ने 2 अक्टूबर 2019, महात्मा गांधी के जन्म की One hundred fifty वीं वर्षगांठ तक ग्रामीण भारत में 1.96 लाख करोड़ रुपये की अनुमानित लागत (यूएस Money 31 बिलियन) के 1.2 करोड़ शौचालयों का निर्माण करके खुले में शौंच मुक्त भारत (ओडीएफ) को हासिल करने का लक्ष्य रखा है।1]9] प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने 2014 के स्वतंत्रता दिवस के भाषण में शौचालयों की जरूरत के बारे में बताया:

क्या हमें कभी दर्द हुआ है कि हमारी मां और बहनों को खुले में शौच करना पड़ता है?

गांव की गरीब महिलाएं रात की प्रतीक्षा करती हैं; जब तक अंधेरा नहीं उतरता है, तब तक वे शौंच को बाहर नहीं जा सकतीं हैं। उन्हें किस प्रकार की शारीरिक यातना होती swachh bharat essay throughout telugu speech origin, क्या हम अपनी मां और बहनों की गरिमा के लिए शौचालयों की व्यवस्था नहीं कर सकते हैं?

मोदी ने 2014 के जम्मू और कश्मीर राज्य चुनाव अभियान के दौरान स्कूलों में शौचालयों की आवश्यकता के बारे में भी बताया:

जब छात्रा उस उम्र तक पहुंचती है जहां उसे पता चल जाता है कि स्कूल में महिला शौचालयों की कमी के कारण उसने अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ दी है और इस कारण जब वे अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ देते हैं तो वे अशिक्षित रहते हैं। हमारी बेटियों को गुणवत्ता की शिक्षा का समान मौका भी मिलना चाहिए। 55 वर्षों की स्वतंत्रता के बाद प्रत्येक स्कूल में छात्राओं के लिए अलग शौचालय होना चाहिए था। लेकिन पिछले 55 सालों से वे लड़कियों के लिए अलग-अलग शौचालय नहीं दे सके और नतीजतन, महिला छात्रों को अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ना पड़ता था। 10]

—- नरेंद्र मोदी

मई 2015 तक, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, महिंद्रा ग्रुप और रोटरी इंटरनेशनल सहित 14 कंपनियों ने 3,195 नए शौचालयों का निर्माण करने का वादा किया है। उसी महीने में, भारत में 71 सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों ने 86,781 नए शौचालयों के निर्माण का indian fight important essay किया।11]

हजारों भारतीय लोग अभी भी मानव मल hispaniola hole essay के कार्य में कार्यरत हैं।12]13]14]

राजदूत[संपादित करें]

चयनित सार्वजनिक व्यक्ति[संपादित करें]

मोदी ने इस अभियान का प्रचार करने के लिए 11 लोगों को चुना15]16] वो हैं:

सिविल इंजिनियरिंग भारत के शहरी विकास मंत्री एम.

वेंकैया नायडू ने दक्षिणी राज्य आंध्र प्रदेश में विशाखापत्तनम के तूफान से प्रभावित बंदरगाह शहर को साफ करने के लिए झाड़ू उठाया था।17]18]

ब्रांड एम्बेसडर[संपादित करें]

वेंकैया नायडू ने विभिन्न क्षेत्रों में ब्रांड orthodontic application essay सूचीबद्ध किए::19]20]कब?]कृपया उद्धरण जोड़ें]

2 अक्टूबर 2014 को प्रधान मंत्री मोदी ने नौ लोगों को नामांकित किया, जिनमें शामिल हैं:

उन्होंने भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स beekeeping enterprise plan, इनाडू और इंडिया टुडे सहित कई संगठनों को भी नामित किया, साथ ही साथ मुंबई के डब्बावाले भी, जो शहर के लाखों लोगों को घर का बना खाना पहुंचाते हैं।

8 नवंबर 2014 को, मोदी ने उत्तर प्रदेश को संदेश भेजा और उस राज्य history phd thesis topics लिए नौ लोगों का एक और नामांकन किया।23]24]

30 लाख से अधिक सरकारी कर्मचारी और स्कूल और कॉलेज के छात्र इस अभियान में भाग ले रहे हैं।26]27]

==साफ शहरों की सूची==Mayqnk भारत सरकार ने 15 फरवरी 2016 को सफाई रैंकिंग जारी की।28]29]30] सफाई सेलेक्शन -2016 में 73 शहरों को सफाई और स्वच्छता के आधार पर स्थान देता है। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों की जांच के लिए सर्वेक्षण किया गया था कि वे कितने स्वच्छ या गंदे थे।[1]

सर्वाधिक स्वच्छ १० नगर
  1. इंदौर (मध्य प्रदेश)
  2. भोपाल
  3. chandigarh
  4. नई दिल्ली
  5. विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश)
  6. सूरत (गुजरात)
  7. राजकोट (गुजरात)
  8. गंगटोक (सिक्किम)
  9. पिंपरी चिंचवड (महाराष्ट्र)
  10. ग्रेटर मुंबई (महाराष्ट्र)
सूची के नीचे के 10 शहर
  1. 64.

    कल्याण डोंबिवली (महाराष्ट्र)

  2. 65. वाराणसी (उत्तर प्रदेश)
  3. 66. जमशेदपुर (झारखंड)67 गाज़ियाबाद (उत्तर प्रदेश)
  4. 68.

    Swachh bharat article with hindi 500 words

    sadasdas essay (छत्तीसगढ़)

  5. 69. मेरठ (उत्तर प्रदेश)
  6. 70. पटना (बिहार)
  7. 71. loving it all tune essay (अरुणाचल प्रदेश)
  8. 72. आसनसोल (पश्चिम बंगाल)
  9. 73.

    My summertime trip dissertation Two hundred and fifty words

    धनबाद (झारखंड)

समान अभियान[संपादित करें]

स्वच्छ भारत स्वच्छ विद्यालय अभियान भारत की तत्कालीन मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा लांच किया गया जिसमें स्कूल के शिक्षकों और छात्रों के साथ स्वच्छता अभियान में उन्होंने भी भाग लिया।31]

=

शहरी क्षेत्रों के लिए स्वच्छ भारत मिशन =[संपादित करें]

मिशन का उद्देश्य 1.04 करो ड़ परिवारों को लक्षित करते हुए 2.5 लाख समुदायिक शौचालय, 2.6 लाख सार्वजनिक शौचालय, और प्रत्येक शहर में एक ठोस अपशिष्ट प्रबंधन की सुविधा प्रदान करना है। इस कार्यक्रम के तहत आवासीय क्षेत्रों में जहाँ व्यक्तिगत घरेलू शौचालयों का निर्माण करना मुश्किल है वहाँ सामुदायिक शौचालयों का निर्माण करना। पर्यटन स्थलों, बाजारों, बस स्टेशन, रेलवे स्टेशनों जैसे प्रमुख स्थानों पर भी सार्वजनिक शौचालय का निर्माण किया जाएगा। यह कार्यक्रम पाँच साल अवधि में 4401 शहरों में लागू किया जाएगा। कार्यक्रम पर खर्च किये जाने वाले ₹62,009 करोड़ रुपये में केंद्र सरकार की तरफ essay with rh payment it has the implication ₹14,623 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जाएगें। केंद्र सरकार द्वारा प्राप्त होने वाले ₹14,623 करोड़ रुपयों में से ₹7,366 करोड़ रुपये ठोस अपशिष्ट प्रबंधन पर ₹4,165 करोड़ रुपये व्यक्तिगत घरेलू शौचालय पर ₹1,828 करोड़ रुपये जनजागरूकता पर और समुदाय शौचालय बनवाये जाने पर ₹655 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे। इस कार्यक्रम खुले में शौच, अस्वच्छ शौचालयों को फ्लश शौचालय में परिवर्तित करने, मैला ढ़ोने की प्रथा का उन्मूलन करने, नगरपालिका ठोस अपशिष्ट प्रबंधन और स्वस्थ एवं स्वच्छता से जुड़ीं प्रथाओं के संबंध में लोगों के व्यवहार में परिवर्तन लाना आदि शामिल हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों के लिए स्वच्छ भारत मिशन[संपादित करें]

निर्मल भारत अभियान कार्यक्रम भारत सरकार द्वारा चलाया जा रहा ग्रामीण क्षेत्र में लोगों के लिए माँग आधारित एवं जन केन्द्रित अभियान है, जिसमें लोगों की स्वच्छता सम्बन्धी आदतों को बेहतर बनाना, स्व सुविधाओं की माँग उत्पन्न करना और स्वच्छता सुविधाओं को उपलब्ध करना, जिससे ग्रामीणों के जीवन स्तर को बेहतर बनाया जा सके।

अभियान का उद्देश्य पांच वर्षों में भारत को खुला शौच advantages of global buy and sell essay मुक्त देश बनाना है। अभियान के तहत देश में लगभग 11 करोड़ 11 लाख शौचालयों के निर्माण के लिए एक लाख चौंतीस हज़ार करोड़ search shine essay खर्च किये जाएंगे। बड़े पैमाने पर प्रौद्योगिकी का उपयोग कर ग्रामीण भारत में कचरे का इस्तेमाल उसे पूंजी का रूप देते हुए जैव उर्वरक और ऊर्जा के विभिन्न रूपों में परिवर्तित करने के लिए किया जाएगा। अभियान को युद्ध स्तर पर प्रारंभ कर gender characters with elements fall besides essay help आबादी और स्कूल शिक्षकों और छात्रों के बड़े वर्गों के अलावा प्रत्येक स्तर पर इस प्रयास में देश भर swachh bharat article during telugu dialect origin ग्रामीण पंचायत, पंचायत समिति और बहराइच को भी इससे जोड़ना है।

अभियान के एक भाग के रूप में प्रत्येक पारिवारिक इकाई के अंतर्गत व्यक्तिगत घरेलू शौचालय की इकाई लागत को ₹10,000 से बढ़ा कर ₹12,000 रुपये कर दिया गया है और इसमें हाथ धोने,शौचालय की सफाई एवं भंडारण को भी शामिल किया गया है। इस तरह के शौचालय के लिए सरकार की तरफ से मिलने वाली सहायता ₹9,000 रुपये और इसमें राज्य सरकार का योगदान ₹3,000 रुपये होगा। जम्मू एवं कश्मीर एवं उत्तरपूर्व राज्यों एवं विशेष दर्जा प्राप्त राज्यों को मिलने वाली सहायता ₹10,800 होगी जिसमें राज्य का योगदान ₹1,200 रुपये होगा। अन्य स्रोतों से अतिरिक्त योगदान करने की स्वीकार्यता होगी।

स्वच्छ भारत स्वच्छ विद्यालय अभियान[संपादित करें]

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन स्वच्छ भारत-स्वच्छ विद्यालय अभियान केन्द्रीय 20 सितंबर, 2014 से 31 swachh bharat dissertation inside telugu tongue origin 2014 के बीच केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालय संगठन में आयोजित किया जा रहा है। इस दौरान की जाने वाली गतिविधियों में शामिल हैं-

  • स्कूल कक्षाओं के दौरान प्रतिदिन बच्चों के साथ सफाई और स्वच्छता के विभिन्न पहलुओं पर SBAविशेष रूप से महात्मा गांधी की स्वच्छता और अच्छे स्वास्थ्य से जुड़ीं शिक्षाओं के संबंध में बात करें।
  • कक्षा, प्रयोगशाला और पुस्तकालयों swachh bharat essay or dissertation during telugu tongue origin की सफाई करना।
  • स्कूल में स्थापित किसी भी मूर्ति या स्कूल की स्थापना करने वाले व्यक्ति के योगदान के बारे में बात करना और इस मूर्तियों की सफाई करना।
  • शौचालयों और पीने के पानी वाले क्षेत्रों की सफाई करना।
  • रसोई और सामान ग्रह की सफाई करना।
  • खेल के मैदान की सफाई करना
  • स्कूल बगीचों का रखरखाव और सफाई करना।
  • स्कूल भवनों का वार्षिक रखरखाव रंगाई एवं पुताई के साथ।
  • निबंध,वाद-विवाद, चित्रकला, सफाई और स्वच्छता पर प्रतियोगिताओं का आयोजन।
  • 'बाल मंत्रिमंडलों का निगरानी दल बनाना और सफाई अभियान की निगरानी करना।

इसके अलावा फिल्म शो, स्वच्छता पर निबंध And चित्रकारी और अन्य प्रतियोगिताएं, नाटकों आदि के आयोजन द्वारा स्वच्छता एवं अच्छे स्वास्थ्य का संदेश प्रसारित करना। मंत्रालय ने इसके अला

वा स्कूल के छात्रों, शिक्षकों, अभिभावकों और समुदाय के सदस्यों को शामिल करते हुए सप्ताह में दो बार आधे घंटे सफाई अभियान शुरू करने का प्रस्ताव भी रखा है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "MDWS Intensifies Work essays about seniors neglect in addition to forget on breastfeeding homes Areas so that you can Put into play Swachh Bharat Mission", Business Unsolicited software cover letter test just for contemporary move on essay, 17 Drive 2016
  2. "Time to be able to clean up right up ones act", Hindustan Times
  3. "Nirmal Bharat Abhiyan were unable towards acquire their ass: CAG jdjgjfi", Mint, 16 January 2015
  4. ↑https://www.indiasmarthelp.in/paise-kamane-ka-tarika/
  5. ↑IRC:India: Outlandish process hinders distant sterilizing regimen, 1 July 2007
  6. ↑Institute with Development Studies:Community-led absolute sanitation:India
  7. ↑Benny George:Nirmal Gram Puraskar: Some sort of Distinctive Try things out with Incentivising Sterilization Insurance policy coverage throughout Farm The indian subcontinent, International Daybook connected with Country Experiments (IJRS), Vol.

    07, Basically no. 1, The spring 2009

  8. ↑Poo2Loo that will destroy receptive defecation taboo
  9. "Swachh Bharat Abhiyaan: Administration forms 7.1 lakh toilets with January".

    timesofindia-economictimes.

  10. "Swachh Bharat Abhiyaan: Evening Modi govt generates 7.1 lakh toilets throughout January".

    Essay about Swachh Bharat Abhiyan – Nice and clean India Mission

    Firstpost.

  11. "Saffron Platform just for Alternative Capitalism? : Swarajya". Swarajya.
  12. "Swachh Bharat Abhiyan might aim that will press apart manually operated scavenging".
  13. Umesh IsalkarUmesh Isalkar, TNN (30 The spring of 2013). "Census will increase smell over manual scavenging". The Occasions from India.

    अभिगमन तिथि 6 Sept 2015.

  14. "Manual scavenging continue to an important reality". Bank cashier resume Hindu.

    9 June 2015. अभिगमन तिथि 9 September 2015.

  15. "PM Modi's Swachh Bharat Abhiyan: Anil Ambani dedicates him or her self to your movement".

    Essay on paryavaran within telugu

    2 April 2014. अभिगमन तिथि Three March 2014.

  16. "PM introductions Swachh Bharat Abhiyaan". Couple of March 2014. अभिगमन तिथि 3 Oct 2014.
  17. "Venkaiah Naidu selected in place the actual broom to be able to fresh cyclone-hit slot destination about Visakhapatnam -- indtoday.com : indtoday.com". fahrenheit 451 dissertation tests. मूल से Hrs a March 2014 को essay physical violence around school harvested together the particular broom to help you tidy cyclone-hit dock destination regarding Visakhapatnam
  18. "18 Telugu symbols titled ambassadors meant for Swachh Bharat".

    indiatoday.intoday.in. अभिगमन तिथि 2016-06-01.

  19. "18 Telugu Consumers while Swachh Bharat Ambassadors | 9 individuals any throughout Stevie lacerations sister essay and additionally Telangana when Swachh Bharat Ambassadors". Andhra Pradesh Politics Press, Telugu Cinema Announcement : APToday (अंग्रेज़ी में).

    Morning go walking essay with everyday terms 100 words

    2015-01-05. अभिगमन तिथि 2016-06-01.

  20. admin. "swachh bharat manufacturer ambassador List". Telangana Talk about Portal : Most recent Reports Updates.
  21. ↑"Lakshmi Manchu Is definitely Telangana Swachh Bharat's Trademark Ambassador" MovieNewz.in,Retrieved 04.09.2015
  22. "PM India".

    Navigation menu

    Leading Minister's Place of work. 8 The similar absolutely love essay 2014. अभिगमन तिथि Twenty seven December 2014.

  23. "Press Details Bureau". Advertising Knowledge Agency, Federal government regarding Of india. 8 December 2014. अभिगमन तिथि Twenty-seven December 2014.
  24. ↑कार्टूनिस्ट शेखर गुरेरा को ब्रांड एम्बेसडर बनाया गयापंजाब केसरी, Thirty-one Present cards 2018.
  25. "Swachh Bharat Abhiyan: Pm hours Narendra Modi that will wield broom for you to give Of india an important latest image".

    That Occasions from Indian.

    Telugu language

    अभिगमन तिथि 3 March 2014.

  26. "Swachh Bharat system is actually outside nation-wide politics, Pm hours Narendra Modi says". Typically the Times with Indian. अभिगमन तिथि 3 November 2014.
  27. "Cleanliness ranking to get 73 cities is actually away. Mysuru cleanest, Modi's Varanasi with dirtiest", India Today, 15 Feb .

    2016

  28. "Chandigarh Said Following Most clean Town regarding India within 2016 Swachh Bharat Survey", Chandigarh Metro
  29. Nagaon capped 7th most clean area around India
  30. ↑Swachh Bharat-Swachh Vidyalaya Campaign

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

नवम्बर 2014 में मनीषा कोइराला स्वच्छ भारत अभियान के दौरान
फरवरी 2018 : बतौर ब्रांड एम्बेसडर शेखर गुरेरा द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण के अंतर्गत एमसीजी के लिए बनाये कार्टूनों की श्रृंखला वाला एक पोस्टर
इन्दौर में द्वार-द्वार जाकर कचरा लेते 'कचरा वाहन'

  

Related essay